उत्पाद नवाचार किसे कहते है? उन कारणों को बताइये जो एक विपणन प्रबन्धक को उत्पाद नवाचार के लिए विवश कर देते हैं।

47

उत्पाद नवाचार का अर्थ (Meaning of Product Innovation) : किसी उत्पाद में किये जाने वाले ऐसे परिवर्तन जो उत्पाद को पूरी तरह से बदलकर उसी को नवीन रूप में प्रस्तुत करना ही उत्पाद नवाचार कहलाता है, जैसे-रेडियो और ट्रांजिस्टर बनाने वाली कम्पनी ने टेलीविजन को जन्म देना। अन्य शब्दों में कहा जा सकता है कि उत्पाद नवाचार से केवल उत्पाद में दिखावटी परिवर्तन नहीं किये जाते, अपितु उसमें कुछ ऐसी नवीन विशेषताएँ पैदा कर दी जाती है जिससे वह नया उत्पाद लगे। विकसित देशों में उत्पाद नवाचार की गति बहुत तेज है बल्कि विकासशील देशों में उत्पाद नवाचार की गति धीमी है।

उत्पाद नवाचार के कारण (Reasons for Product Innovation) : उपर्युक्त विवेचन से यह स्पष्ट है कि अब उत्पाद नवाचार की ओर अधिकाधिक ध्यान दिया जाने लगा है। अगर हम यह कहें कि उत्पाद नवाचार व्यवसाय के लिए एक अनिवार्यता है तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। यहाँ पर उन मुख्य कारणों का वर्णन किया जा रहा है जिन्होंने निर्माताओं को उत्पाद नवाचार हेतु विवश कर दिया है। ये कारण निम्न हैं

(1) व्यवसाय में वृद्धि करने के लिए व्यवसाय वृद्धि के लिए नवीन उत्पाद आवश्यक है। प्रायः देखने में आता है कि वही उद्योग प्रगति कर पाये हैं जिन्होंने उत्पाद विकास पर ध्यान दिया या जो उत्पाद नवाचार के प्रति सतर्क हैं। पीटर ड्रकर (Peter Drucker) ने व्यावसायिक उपक्रम के दो आधारभूत कार्य बताये हैं-प्रथम, विपणन और द्वितीय, नवाचार। वास्तव में, नवीन उत्पादों के विकास के बिना व्यावसायिक वृद्धि सम्भव नहीं।

(2) प्रतिस्पर्द्धा का सामना करने के लिए आधुनिक समय में बढ़ती हुई प्रतिस्पर्द्धा ने भी निर्माताओं को उत्पाद नवाचार पर ध्यान देने के लिए बाध्य कर दिया है। आज एक निर्माता उपभोक्ताओं की नवीनता के प्रति रुचि करके ही प्रतिस्पर्द्धा का सामना कर सकता है। मूल्य प्रतिस्पर्द्धा से बचने के लिए भी एक निर्माता को अपने उत्पाद को भिन्न-भिन्न रूपों में प्रस्तुत करना पड़ता है जिससे ग्राहकों की नजर में उस वस्तु को प्रतिस्पर्द्धा से भिन्न बनाया जा सके।

(3) तकनीकी या प्राविधिक विकास को अपनाने के लिए निरन्तर हो रही वैज्ञानिक और तकनीकी प्रगति के कारण भी उत्पाद नवाचार आवश्यक हो गया है। जब एक उत्पाद तकनीकी दृष्टि से सुधार कर बाजार में प्रस्तुत कर दिया जाता है तो अन्य कम्पनियों को भी अपने उत्पाद में आवश्यक परिवर्तन करने पड़ते हैं। उदाहरण के लिए, अब सभी घड़ियाँ बनाने वाली कम्पनियाँ घड़ी की पानी से सुरक्षा (Leak Proof) का ध्यान रखने लगी है और दिनांक और दिन (Day) आदि की व्यवस्था करने लगी हैं। इसी प्रकार देश में रेडियो और ट्रांजिस्टर का स्थान टेलीविजन ने ले लिया है। देश में टेलीविजन की माँग लगातार बढ़ रही है। अतः रेडियो और ट्रांजिस्टर बनाने वाली कम्पनियों के लिए उत्पाद नवाचार का महत्व काफी है।

(4) बाजार परिवर्तन करने के लिए-उत्पाद नवाचार का एक कारण बाजार परिवर्तन भी है। आज ग्राहकों की रुचियों और आदतों में तेजी से परिवर्तन आ रहे हैं। विशेष तौर से फैशन की वस्तुओं में तो बाजार परिवर्तन काफी तेजी से हो रहा है। ऐसी स्थिति में बाजार की आवश्यकताओं के अनुरूप स्वयं को बनाये रखने के लिए निर्माता को उत्पाद नवाचार का सहारा लेना आवश्यक है।

(5) संस्थानों का अधिकतम उपयोग करने के लिए कभी-कभी संसाधनों का अच्छा उपयोग करने के लिए उत्पाद नवाचार किया जाता है। उदाहरण के लिए, अगर किसी संस्था में किसी वस्तु के उत्पादन कार्य से कुछ बर्बाद पदार्थ (Waste) बचाता है तो उसके द्वारा किसी नवीन उत्पाद का निर्माण किया जा सकता है।