मादक पदार्थों के आयात, निर्यात एवं परिवहन के सम्बन्ध में छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम में क्या व्यवस्थाएँ की गई है ?

94

आयात, निर्यात एवं परिवहन पर प्रतिबंध (Restrictions on Import, Export and Transport) : प्रत्येक व्यक्ति यह बात सामान्य रूप से जानता है कि शराब या मदिरा या मादक पदार्थों के स्वतंत्र आयात, निर्यात तथा परिवहन के कारण किसी भी देश के निवासियों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा तथा वहाँ पर सामाजिक बुराइयाँ तथा समस्याएँ उत्पन्न होंगी। अतः यह आवश्यक है कि सरकार इन पदार्थों के आयात, निर्यात एवं परिवहन पर कुछ प्रतिबन्ध लगाये, ताकि लोग इनका उपयोग या सेवन कम से कम करें। इसी कारण छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने मादक पदार्थों के आयात, निर्यात व परिवहन पर कुछ प्रतिबंध व शर्तें लगाई है जिनका अनुपालन करने पर ही इनका उपयोग किया जा सकता है। साथ ही यह व्यवस्था की गई है कि ऐसी मात्रा से अधिक जिसे राज्य सरकार विहित करे किसी भी मादक पदार्थ का आयात, निर्यात या परिवहन पास के अधीन नहीं किया जा सकता है। छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम के अंतर्गत मदिरा पदार्थों के आयात, निर्यात एवं परिवहन पर कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं जो निम्न प्रकार हैं

(1) आयात, निर्यात एवं परिवहन पर रोक लगाने की शक्ति-छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम की धारा 8 के अनुसार राज्य सरकार को यह अधिकार प्रदान किया गया है कि वह अधिसूचना के द्वारा राज्य के किसी विशिष्ट क्षेत्र या सम्पूर्ण राज्य में मादक पदार्थों के आयात, निर्यात व परिवहन पर रोक लगा सकती है। इस अधिसूचना के निर्गमन के पश्चात् कोई भी व्यक्ति निर्दिष्ट क्षेत्र में मादक पदार्थों का आयात, निर्यात व परिवहन नहीं कर सकता है।

(2) आयात, निर्यात एवं परिवहन पर प्रतिबंध-छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम की धारा 9 के अनुसार कोई व्यक्ति बिना राज्य सरकार की अनुमति के मादक पदार्थों का आयात, निर्यात व परिवहन नहीं कर सकता है। अतः मादक पदार्थों के आयात, निर्यात के लिए राज्य सरकार की अनुमति लेना आवश्यक है। राज्य सरकार की अनुमति के बिना पदार्थों का आयात, निर्यात या परिवहन करना गैर कानूनी व दण्डनीय माना जाएगा।

(3) आयात, निर्यात एवं परिवहन की अनुमति प्रदान करने सम्बन्धी अन्य नियम-राज्य सरकार निम्न परिस्थितियों में मादक पदार्थों के आयात, निर्यात व परिवहन की अनुमति प्रदान कर सकती है

  • शुल्क का भुगतान-राज्य सरकार द्वारा मादक पदार्थों पर लगाए गए शुल्क का भुगतान करना आवश्यक होता है। सरकार द्वारा इन शुल्कों में समय-समय पर परिवर्तन किया जाता है। इस शुल्क की दरें विभिन्न प्रकार के मादक पदार्थों पर भिन्न-भिन्न होती है जिसे राजकोष में जमा करवाना पड़ता है। निर्धारित दरों से शुल्क का भुगतान करने के बाद ही कोई व्यक्ति मादक पदार्थों का आयात, निर्यात व परिवहन कर सकता है।
  • शर्तों का अनुपालन-यदि राज्य सरकार द्वारा मादक पदार्थों के आयात, निर्यात व परिवहन पर कुछ शर्तें लगाई जाती हैं तो इच्छुक व्यापारी को इन शर्तों को पूरा करना आवश्यक होता है। इन शर्तों को पूर्ण करने के पश्चातू ही व्यापारी को मादक पदार्थों के आयात-निर्यात एवं परिवहन की अनुमति प्रदान की जाती है। यदि कोई व्यापारी इन शर्तों को पूरा किए बिना ही अथवा उल्लंघन करता है तो यह क्रिया गैर-कानूनी एवं दण्डनीय होगी।
  • बॉण्ड भरकर आयात करना-कुछ विशिष्ट परिस्थितियों में शुल्क का पूर्व भुगतान करना आवश्यक नहीं होता। इन विशिष्ट परिस्थितियों में यदि कोई व्यक्ति शुल्क के भुगतान के लिए एक बॉण्ड प्रस्तुत कर देता है तो आयात, निर्यात व परिवहन की अनुमति प्रदान की जा सकती है। यह बंधकनामा एक प्रतिज्ञा-पत्र है जिसमें इच्छुक व्यापारी यह आश्वासन देता है कि वह आयात, निर्यात व परिवहन की प्रक्रिया पूर्ण हो जाने पर निर्धारित अवधि के अन्दर देय शुल्क सरकारी खजाने में जमा करवा देगा। निर्धारित शर्तों के अंतर्गत बॉण्ड प्रस्तुत करने वाले व्यक्तियों को मादक पदार्थों के आयात, निर्यात तथा परिवहन की अनुमति प्रदान की जा सकती है।

(4) आयात, निर्यात व परिवहन हेतु पास-छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम की धारा 10 के अनुसार राज्य सरकार ने निर्धारित मात्रा से अधिक मात्रा में मादक पदार्थों के आयात, निर्यात एवं परिवहन के लिए पास की व्यवस्था की है। इस धारा के अनुसार राज्य सरकार राज्य के किसी भी क्षेत्र के लिए एक अधिसूचना द्वारा मादक पदार्थों के आयात व निर्यात के लिए एक मात्रा निश्चित करती है इस मात्रा से अधिक मात्रा में मादक पदार्थों का आयात, निर्यात व परिवहन करने के लिए पास प्राप्त करना आवश्यक है। यदि वह पास प्राप्त नहीं करता है और निश्चित मात्रा से अधिक मात्रा में मादक पदार्थों का आयात, निर्यात व परिवहन करता है तो वह गैर कानूनी व दण्डनीय होगा। मादक पदार्थों के आयात, निर्यात एवं परिवहन के लिए पास प्रदान करने के सम्बन्ध में निम्नलिखित प्रावधान है

  • मादक पदार्थों के आयात, निर्यात एवं परिवहन हेतु पास सामान्यतया कलेक्टर के द्वारा जारी किये जाते हैं।
  • सरकार द्वारा निर्धारित कुछ विशिष्ट प्रकार के मादक पदार्थों के लिए आयात, निर्यात एवं परिवहन के पास केवल आबकारी अधिकारी द्वारा ही प्रदान किये जाते हैं।
  • यह पास निश्चित अवधि व विशिष्ट मादक पदार्थों के लिए होते हैं।
  • पास के लिए अतिरिक्त शुल्क नहीं लगता है।

(5) पास सामान्य या विशिष्ट अवसर या विशिष्ट उद्देश्य के लिए होते हैं।